मांगों को लेकर आंगनवाड़ी वर्करों की अनिश्चितकालीन हड़ताल दूसरे दिन भी जारी

0
158

करनाल(श्रीजी एक्सप्रेस)। न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपए, ईपीएफ व ईएसआई की सुविधा तथा महंगाई भत्ता लागू करवाने सहित कई मांगों को लेकर आंगनवाड़ी वर्करों की अनिश्चितकालीन हड़ताल दूसरे दिन भी जारी रही। जिला सचिवालय के सामने वर्कर धरने पर डटी रही। अध्यक्षता जिला प्रधान रूपा राणा ने की व संचालन जिला सचिव बिजनेश राणा ने किया।
धरने को संबोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ के जिला सचिव कृष्ण शर्मा ने कहा कि पिछले वर्ष मार्च में हरियाणा सरकार ने संगठन से वार्ता करके आंगनवाड़ी वर्करों को कुशल व हेल्पर को अर्धकुशल श्रमिक की श्रेणी में शामिल करके न्यूनतम वेतन, ईपीएफ व ईएसआई सहित महंगाई भत्ता लागू करने का वादा किया था। हेल्पर से वर्कर व वर्कर से सुपरवाइजर पदोन्नत करने का आश्वासन दिया था। गर्मियों व सर्दियों का अवकाश प्रदान करने का वादा किया था। हरियाणा सरकार ने इन मांगों को लागू न करके इन वर्करों से वादाखिलाफी की है। रूपा राणा ने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों का किराया बड़े शहरों में पांच हजार, छोटे शहरों में तीन हजार व गांवों में 750 रुपए लागू किया जाए। वर्कर व हेल्पर की मृत्यु होने की स्थिति में परिजनों को तीन लाख रुपए एक्सग्रेसिया राशि लागू की जाए। केंद्र सरकार से मिलने वाला मानदेय व प्रधानमंत्री द्वारा घोषित 1500 व 750 रुपए के मानदेय बढ़ोतरी को लागू किया जाए तथा एरियर का भुगतान हो। 45वें श्रम सम्मेलन की सिफारिशों के अनुसार कर्मचारी का दर्जा देते हुए न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपए लागू करते हुए पेंशन सहित तमाम सामाजिक सुरक्षा लाभ दिया जाए। जिला प्रधान रूपा राणा व जिला सचिव बिजनेश ने कहा कि जब तक हरियाणा सरकार दिए गए वादे को लागू नहीं करती धरना जारी रखा जाएगा। 11 फरवरी को शहर में प्रदर्शन किया जाएगा। इस अवसर पर राकेश राणा, ओमप्रकाश माटा, रोशन गुप्ता, अशोक पांचाल, मंजू बवेजा, नीलम, सर्वेश, मूर्ती, अमरजीत कौर, राकेश राणा, सरोज, रीना, सुनीता, सुदेश, अनीता राणा, गीता, सरोज व वीना ने वर्करों को संबाेिधत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here