13 राज्यों और 2 केन्द्र शासित प्रदेशों में आंधी-तूफान के साथ बारिश की आशंका

नई दिल्ली(श्रीजी एक्सप्रेस न्यूज नेटवर्क)। बीते बुधवार को रेतीले तूफान ने उत्तर भारत में भयंकर तबाही मचाई थी, इस तूफान की वजह से सैकड़ों लोगों की जान चली गई थी, फिलहाल तूफान का कहर अभी और भी बरस सकता है और इसी वजह से मौसम विभाग ने भारत के 13 राज्यों और दो केन्द्र शासित प्रदेशों में आंधी-तूफान की आशंका जताई है। विभाग का कहना है कि इन सभी स्थानों में सोमवार को आंधी-तूफान, भारी बारिश और ओलावृष्टि होने की आशंका है। यह जानकारी गृह मंत्रालय ने दी है। मंत्रालय का कहना है

 कि जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कुछ स्थानों पर सोमवार को आंधी-तूफान और ओलावृष्टि के साथ बारिश हो सकती है जबकि उत्तराखंड और पंजाब के कुछ स्थानों पर तेज बारिश आ सकती है और तेज हवाएं चल सकती हैं, हरियाणा में तूफान की आशंका के चलते दो दिन के लिए स्कूल बंद कर दिए गए हैं। मौसम एक बार फिर करवट बदलने को तैयार है, जो जनजीवन को प्रभावित कर सकता है।

 मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो घंटों के दौरान दिल्ली और इससे लगे शहरों फरीदाबाद, बल्लभगढ़, खुर्जा, ग्रेटर नोएडा और बुंलदशहर में आंधी के साथ बारिश हो सकती है।तो वहीं आईएमडी हिमाचल प्रदेश के डायरेक्टर मंगल सिंह ने मीडिया को बताया था कि राज्य के कई हिस्सों में 7 से 8 मई के बीच बारिश होने की संभावना है। शिमला, सोलन, हमीरपुर, मंडी, कांगड़ा और ऊना जिलों के लिए 7 और 8 मई को आंधी-तूफान और तेज हवाओं का एलर्ट जारी किया है। उत्तर भारत में बुधवार देर रात आए आंधी-तूफान ने अब तक 149 लोगों की जान ले ली है। 400 से ज्यादा पशु भी मारे गए। 132 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से आए तूफान से सबसे ज्यादा मौतें यूपी के आगरा में हुई हैं, जहां से 50 से ज्यादा लोगों के मरने की खबर है। इस तूफान ने भयंकर आर्थिक क्षति भी पहुंचाई है। यूपी और राजस्थान इस तूफान की वजह से सबसे ज्यादा क्षतिग्रस्त हुए हैं।

आपके विचार

 
 

View Comments (0)