भारत की अग्रणी K-12 स्कूल शृंखला, विबग्योर ग्रुप ऑफ़ स्कूल्स की

  मिलेनियम सिटी गुरुग्राम में नए स्कूल की शुरुआत

 एक और नए शहर में विश्व-स्तरीय शैक्षणिक सुविधाएं देने की अपनी परम्परा का विस्तार

 यह नया स्कूल सेक्टर 67 स्थित एसेंशिया के ब्लॉक डी में मौजूद होगा

गुरुग्राम, हरियाणा]  विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया करवाने और उन्हें भविष्य के नेताओं के रूप में विकसित करने के अपने लगातार प्रयासों के तहत भारत के अग्रणी इंटरनेशनल स्कूल विबग्योर ग्रुप ऑफ़ स्कूल्स ने आज हरियाणा के गुरुग्राम में अपना पहला स्कूल शुरू करने की घोषणा के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में पहला कदम रखा है. इस तरह यह कदम साबित करता है कि विबग्योर तेज़ी से विकसित हो रहा है और हमारे विस्तार की योजना का बेहतरीन नमूना है. यह नया स्कूल गुरुग्राम के सेक्टर 67 स्थित एसेंशिया के ब्लॉक डी में मौजूद है.  

पाँच एकड़ ज़मीन पर फैले विश्व स्तरीय सुविधाओं से लैस इस स्कूल में तक़रीबन 2,500 विद्यार्थी पढ़ सकते हैं. इस स्कूल में विद्यार्थियों के लिए नवीनतम तकनीक की मदद से तैयार की गईं मूलभूत सुविधाएँ, अनुभवी और जाँची-परखी गईं शिक्षण प्रणालियाँ और स्पोर्ट्स और प्रदर्शन कला को निखारने-सँवारने के लिए तमाम सुविधाएँ मौजूद हैं. इस स्कूल में 50 अनुभवी और मशहूर शिक्षक भी मौजूद रहेंगे, जो विद्यार्थियों को हर कदम पर दिशा दिखाएँगे. इस स्कूल की शुरुआत के साथ विबग्योर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सर्वोत्तम सुविधाओं और विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध आधुनिकतम टूल्स की मदद से शिक्षा का एक बेहतरीन माहौल मुहैया करवाने के लिए बिलकुल तैयार है.     उत्तरी भारत में विबग्योर के पहले कदम की उपलब्धि पर अपने विचार प्रकट करते हुए विबग्योर ग्रुप ऑफ़ स्कूल्स के सी.ई.ओ. श्री आशीष टिबड़ेवाल ने कहा, “अनगिनत आईटी हब के केंद्र गुरुग्राम में आज ऐसे उच्च शिक्षित नौजवान माता-पिता की भरमार है, जो अपने बच्चों को हर हाल में सबसे अच्छा देना चाहते हैं. नवीनतम तकनीक की मदद से तैयार की गईं मूलभूत सुविधाओं और कई लोकप्रिय विश्वविद्यालयों के बीच यह मिलेनियम सिटी भारत के उभरते शैक्षणिक केंद्र के रूप में तब्दील हो रही है. हमें इस क्षेत्र में स्कूल खोलते हुए बहुत ख़ुशी हो रही है कि हम आने वाले दिनों में इस शहर की शैक्षणिक विरासत को आगे ले जाएँगे.”श्री टिबड़ेवाल ने आगे कहा, “विबग्योर की शुरुआत सन 2004 में मुंबई में इस उद्देश्य के साथ हुई कि भारतीय शैक्षणिक क्षेत्र में एक क्रांति लाई जाएगी, उसमें कई बदलाव लाए जाएँगे. हमारे ग्रुप ऑफ़ स्कूल्स की शिक्षा पद्धति और अध्यापन तकनीक की सबसे अनोखी बात यह है कि शिक्षा के प्रति हमारा दृष्टिकोण बच्चे के सम्पूर्ण विकास पर ध्यान देता है यानी हम बच्चे के बौद्धिक, सामाजिक, शारीरिक, भावनात्मक और आध्यात्मिक विकास पर ज़ोर देते हैं. विबग्योर का पाठ्यक्रम ही इस तरह से विकसित और तैयार किया गया है कि उससे हर एक बच्चे को उसकी ज़रूरत के हिसाब से ढाला जाए, ताकि वह आसानी से अपनी अधिकतम क्षमता तक पहुँचे.”विबग्योर के स्कूलों में सीबीएससी, सीआईएससीई और सीएआईई जैसे प्रतिष्ठित भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय बोर्डों के तहत प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्तर पर शिक्षा प्रदान की जाती है. विबग्योर भारत भर में अपनी K-12 शृंखला के स्कूलों के ज़रिये 48,000 कुशाग्र बच्चों और नवयुवकों को कड़े विचार-विमर्श के बाद तैयार की गई शैक्षणिक सुविधाओं के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर रहा है. विबग्योर ग्रुप ऑफ़ स्कूल्स खेलों और कलात्मक गतिविधियों के क्षेत्र में भी बेहतरीन सुविधाएँ मुहैया करवा रहा है. फ़िटनेस से लेकर हर तरह के खेल, तैराकी, स्केटिंग, फ़ुटबॉल, क्रिकेट, बास्केटबॉल, हैंडबॉल, जिमनास्टिक के साथ-साथ संगीत, नृत्य, नाटक और वाक-कला जैसी गतिविधियाँ इसमें शामिल हैं. सीसीटीवी की निगरानी, प्रशिक्षित सेक्युरिटी गार्ड्स और कुशल सहयोगी कर्मचारी मिलकर हमारे स्कूलों में विद्यार्थियों के लिए एक सुरक्षित और चाक-चौबंद माहौल बनाए रखते हैं. शिक्षा के क्षेत्र में विबग्योर ग्रुप ऑफ़ स्कूल्स एक प्रतिष्ठित नाम बन चुका है और सभी यह मानते भी हैं. ग्रुप को पिछले कई बरसों में मिले पुरस्कार इसका सबूत हैं. ग्रुप को एक्सिलेंस इन एज्यूकेशन (2018), बेस्ट एज्यूकेशन ब्रांड (2018), ग्लोबल इनोवेटिव स्कूल अवॉर्ड्स (2018) और इंडियाज़ मोस्ट ऐडमायर्ड ब्रांड अवॉर्ड (2017) जैसे अन्य कई प्रतिष्ठित पुरस्कार मिल चुके हैं.

आपके विचार

 
 

View Comments (0)