देश व प्रदेश में बढ़ते प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए करे वृक्षारोपण: जगदीश

0
40

छाता(गुलाब चौधरी)। आज विश्व पर्यावरण दिवस पर नगर व औधोगिक क्षेत्र में स्थापित इकाईयों में समस्त कर्मचारियों को वृक्षारोपण के लिए प्रेरित कर शपथ दिलाई। कई संस्थानों में गोष्ठियों का आयोजन कर जल वायु,प्रदूषण से होने बाले प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए अनेको उपायों पर विचार विमर्श किया।


राजमार्ग पर संचालित शत प्रतिशत निर्यात करने वाली गिन्नी फिलामेंट कम्पनी में छाता के पुलिस क्षेत्राधिकारी जगदीश कालीरमन ने परिसर में वृक्षारोपण कर अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्बोधित किया। पुलिस क्षेत्राधिकारी जगदीश कालीरमन ने कहा है कि आजकल बढ़ते प्रदूषित पर्यावरण से देश व प्रदेश ही नई पूरा विश्व चिंतित है। बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए ग्रामीण स्तर से ही लोगो को जागरूक करने की आवश्यकता है। ग्रामीण स्तर पर धन के लालच में बड़े ही पैमाने पर वृक्षों का कटान किया जा रहा है। जबकि बृक्षों से ही पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाया जा सकता है। बड़े बड़े शहरों व नगरों में पर्यावरण को दूषित होने बचाने के लिए सरकार द्वारा पॉलीथिन के प्रयोग पर पाबंदी लगाई है। जिसकी रोकथाम के लिए नगर निगम छापेमारी भी कर रही है। लेकिन उपेक्षित सफलता नही मिल पा रही है। जब तक जनमानस पर्यावरण के संदर्भ में जागृत नही होगा तब तक प्रदूषित पर्यावरण को काबू करना मुश्किल है। कंपनी के उपाध्यक्ष एस एन शर्मा ने कम्पनी के कर्मचारी व अधिकारियों के साथ गोष्ठी कर करीब 5 दर्जन पेड़ लगाए। तथा अधिकारियों व कर्मचारियों को अपने अपने गांवो में अधिक से अधिक पेड़ लगाने की शपथ दिलाई। छाता बरसाना मार्ग पर स्थापित नन्दवन मेगा फ़ूड पार्क के अधिकारी वीके लवानिया ने कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए कहा है कि पूरे विश्व ने बढ़ते प्रदूषित वातावरण से जनता को कैसे दूर रखा जाए। इस पर विश्व भर में पर्यावरणविद मंथन कर रोकथाम में जुटे हुए हैं।साथ ही बढ़ते जल व वायु प्रदूषण से बचने के लिए जनता को प्लास्टिक थैली के कचरे के साथ साथ वायो पदार्थो के जलाने से होने बाले प्रदूषण से बचना होगा। और सभी लोगो को अधिक से अधिक वृक्षारोपण करना होगा। इस अवसर पर राजीव शर्मा,जे बी सिंह,संजीव राजपूत, मनोज कुमार शर्मा, मनोज कुमार, मुकेश चतुर्वेदी, धर्मवीर सिंह,डीपीएस कुंतल, विजय शर्मा, संजीव गुप्ता आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here