केडी हास्पीटल में निकाला अंडाशय से 4.5 किलो ग्राम का टयूमर

0
103

केडी मेडीकल कालेज, हास्पीटल एंड रिसर्च विंग की डीन डा. मंजू नवानी की ओपीडी में पेट में भयंकर दर्द होने की शिकायत लेकर पहुंची थी कोसीकलां निवासी ज्योति

मथुरा (श्रीजी एक्सप्रेस)। क्या आपके पेट मंे गैस बनने की शिकायत है्। क्या आपको पेट में दर्द महसूस होता है। क्या आपका पेट बिना गर्भावस्था के ही सामान्य से अधिक भारी है। क्या आपको पेट में स्थित अंडाशय की ओर पेट में भारीपन महसूस हो रहा है यदि हां तो आपके अंडाशय में ज्योति की तरह से टयूमर भी हो सकता है। यदि ऐसा है तो घबराएं नहीं परिजनों के साथ केडी हास्पीटल की ओपीडी में केडी मेडिकल कालेज की डीन डा. मंजू नवानी से मिलें। आपको भी ज्योति की तरह से जल्द से जल्द राहत मिल सकेगी। ब्रजवासी बहनों को ऐसे दर्द को अब ज्यादा झेलने या छिपाने की जरुरत नहीं वे केडी हास्पीटल में आकर दर्द से पूरी तरह से राहत पा सकती हैं। केडी मेडीकल कालेज, हास्पीटल एंड रिसर्च विंग की डीन डा. मंजू नवानी की ओपीडी में बीते दिनों कोसीकलां निवासी ज्योति पेट में भयंकर दर्द होने की शिकायत लेकर पहुंची। उन्होंने अल्ट्रासाउंड और अन्य कुछ जांचें करने के बाद परिजनों को बताया कि मरीज ज्योति के अंडाशय में टयूमर है। जिसे निकाला जाना जरुरी है। मरीज ज्योति ने चिकित्सक को बताया कि उसे एम्स में भी अंडाशय में टयूूमर होने की बात बताई थी। मगर वहां किन्हीं कारणों से वहां ऑपरेशन नहीं करा सकी। परिजनों की सहमति से डीन डा. मंजू नवानी के नेतृत्व में टीम ने मरीज ज्योति का दो घंटे की मेहनत के बाद ऑपरेशन सफलता पूर्वक कर दिया। ओटी टीम में डा. स्मिता गोयल, एनथिएटिस्ट डा. शोभा और सिस्टर विनीशा आदि शामिल रहे। टीम ने मरीज के अंडाशय से साढे चार किलो का टयूमर निकाला है। उसे पांच दिनों के बाद छुट्टी भी दे दी गई। अब वह पूरी तरह से ठीक है। पेट में दर्द से मुक्ति मिल गई है।

अंडाशय और गर्भाशय का टयूमर विकसित होता है तेजी से-डा. मंजू नवानी

केडी मेडिकल कालेज, हास्पीटल एंड रिसर्च सेंटर की डीन डा. मंजू नवानी ने ब्रजवासियांे से अपील करते हुए कहा कि वे केडी हास्पीटल में ऐसे टयूमर होने की जानकारी होते ही निकलवा देना चाहिए। इसके पीछे वजह है कि अंडाशय और गर्भाशय का टयूमर बहुत तेजी विकसित होता है। ये कुछ माह में ही कई किलो वजन तक का हो जाता है। इसी से जल्दी से आपरेशन करा लेना चाहिए। जो बाद में कैंसर टयूमर में बदल सकता है। इससे समय रहते केडी हास्पीटल में निकलवा लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here