पूर्व विधायक के फार्म से पकड़े गये शूटरों से पुलिस कर रही तहकीकात

0
134

आचार संहिता हटने के बाद करनी थी दो लोगों की हत्या

अलीगढ़, (पंकज धीरज)। पाली हाउस से चार शार्प शूटर अपराधियों को शरण देने के मामले में पुलिस ने पूर्व विधायक प्रमोद गौड़ के खिलाफ तर्कसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर सकती है। पूछताछ में शार्प शूटरों ने बताया कि उन्हें आचार संहिता के बाद लोगों की हत्या करनी थी।
पूछतांछ में अभियुक्तों ने बताया कि आचार संहिता हटने के बाद वे दो लोगों की हत्या करने वाले थे। उनके निशाने पर अभियुक्त कृष्णा का एक रिश्तेदार था, जो उसकी पत्नी को बहलाकर ले गया है और इगलास क्षेत्र में रहता है। पत्नी को ले जाने में गोंडा के एक व्यक्ति ने सपोर्ट किया था। इसलिए वह भी उनके निशाने पर था। गोंडा में हुई हत्या के मामले में वह इन दिनों जेल में है। इसलिए कचहरी में पेशी पर आने के दौरान उसे मारने की प्लानिंग थी।
वहीं, पूर्व विधायक ने सफाई देत हुए कहा है कि ‘मेरे कृषि फार्म (पाली हाउस) पर पकड़े गये अपराधी कृष्ण का भाई रामवीर कई साल से चौकीदार है। हम तो वहां आते-जाते भी नहीं हैं। अब वहां रामवीर किसे बुलाकर ठहरा रहा है, यह जानकारी मुझे नहीं है। पुलिस चाहें तो हमारी मौजूदगी के सीसीटीवी फुटेज और हमारी कॉल डिटेल भी निकलवा सकती है। बाकी मैं हर जांच को तैयार हूं। आज हमारा कोई अपराधिक कनैक्शन नहीं रहा है।
बता दें कि थाना खैर पुलिस ने सूचना मिलने पर खैर पुलिस और सर्विलांस टीम ने घेराबंदी कर चार अपराधियों को पूर्व विधायक प्रमोद गौड़ के पॉली हाउस से गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ में उन्होंने अपने नाम विष्णु निवासी ढाटोली थाना गोंडा, कृष्णा निवासी छज्जू नगला थाना खैर, अजीत सिंह निवासी पिसावा व महावीर निवासी मकरंदगढ़ी थाना नौहझील जनपद मथुरा बताए। चारों शार्प शूटर हैं और इनके कब्जे से चार तमंचा 315 बोर, आठ कारतूस और सात हजार रुपये बरामद किए गए हैं।
इस मामले में अपराधियों को शरण देने के मामले में बसपा के पूर्व विधायक प्रमोद गौड़ के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here