सत्ता पाने के लिए अंधे हो चूके केजरीवाल हिन्दू धर्म और उनकी धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने और अपमानित करने का कार्य कर रहे हैं-मनोज तिवारी

0
157
  1. स्वाष्तिक चिंह को अपमानित करने, गाय की फोटो के माध्यम से धार्मिक भावना भड़काने और गुरूग्राम की घटना को हिंदू-मुसलमान का रंग देना किसी राज्य के मुख्यमंत्री को शोभा नहीं देता है-मनोज तिवारी
    हिंदूत्व को नीचा दिखाना केजरीवाल की आदत बन गई है और आगामी लोकसभा चुनाव में जहां एक तरफ मोदी सरकार विकास के मुद्दे पर चुनाव में जाने की तैयारी कर रही है वहीं केजरीवाल जनता को गुमराह करने का घिनौना षड़यंत्र रच रहे हैं- मनोज तिवारी
    केजरीवाल भूल रहे हैं कि ये नया भारत है, धर्म के नाम पर नहीं, देश विकास और राष्ट्रवाद के नाम पर अपना मत तय करेगा-मनोज तिवारी

  2. नई दिल्ली(श्रीजी एक्सप्रेस न्यूज नेटवर्क)। अगर देश के किसी कोने में कहीं कोई विवाद हो जाए या कोई मारपीट हो जाए तो इस तरह की घटनाएं न केवल शर्मनाक है बल्कि ऐसे मामलों में दोषियों को सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए। लेकिन अगर इसी मामले में सही तथ्यों को सामने न रखकर लोगों को बरगलाया जाए, उसे हिंदू-मुसलमान की लड़ाई बताकर साम्प्रदायिक सदभाव बिगाड़ा जाए, तो यह न केवल शर्मनाक है बल्कि इस तरह का रंग देने वाले व्यक्तियों की मानसिकता पर भी बड़ा सवाल खड़ा करता है। यही कार्य दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल कर रहे हैं, जो किसी राज्य के मुख्यमंत्री के लिए शर्मनाक है। उपरोक्त बाते कहते हुए दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर निशाना साधा है।
    श्री तिवारी ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल लगातार हिंदू और हिंदूत्व प्रतीकों का अपमान कर रहे हैं। आज सत्ता पाने के लिए अंधे हो चूके केजरीवाल हिन्दू धर्म और हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। ऐसे में हिन्दू विरोधियों को जनता जल्द आगामी चुनावों में करारा जवाब देगी। उन्होंने कहा कि केजरीवाल की यह हरकत चुनावी आदर्श आचार संहिता का भी दुरूपयोग है। इस तरह की शरारत पूर्ण हरकतें केजरीवाल को भारी पड़ेगी। क्योंकि हिन्दुत्व के प्रति उनकी घृणा उन्हें भारी पड़ेगी।
    श्री तिवारी ने कहा कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब केजरीवाल हिंदूओं को नीचा दिखाने के लिए इस तरह की हरकत कर रहे हैं। इसके पहले भी उन्होंने गाय की फोटो को ट्वीट करके और हमारे प्रतीक चिंह स्वाष्तिक का अपमान किया है। अब वे गुरूग्राम में हुई क्रिकेट मैच के झगड़े को जिस तरह हिंदू-मुसलमान का रंग दिया है, ऐसा किसी प्रदेश के मुख्यमंत्री से अपेक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल भूल रहे हैं कि ये नया भारत है, धर्म के नाम पर नहीं, देश विकास और राष्ट्रवाद के नाम पर अपना मत तय करेगा।
    श्री तिवारी ने कहा कि हिंदूत्व को नीचा दिखाना केजरीवाल की आदत बन गई है और आगामी लोकसभा चुनाव में जहां एक तरफ मोदी सरकार विकास के मुद्दे पर चुनाव में जाने की तैयारी कर रही है वहीं केजरीवाल जनता को गुमराह करने का घिनौना षड़यंत्र रच रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here