टेनिस बडीज का प्रमोशन करने जुटे फिल्म के सितारे

0
80

नई दिल्ली(श्रीजी एक्सप्रेस न्यूज नेटवर्क)। चिल्ड्रेन फिल्म सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा प्रस्तुत एवं रीजनेबल कम्युनिकेशन प्राइवेट लिमिटेड के बैनर तले बनी ‘टेनिस बडीज भारत की पहली ऐसी फिल्म है, जो टेनिस खेल पर आधारित है। क्योंकि, अब तक हॉकी, क्रिकेट, बॉक्सिंग, कुश्ती, फुटबॉल जैसे खेलों पर कई फिल्में बन चुकी हैं, लेकिन टेनिस पर एक भी नहीं।

‘टेनिस बडीज नामक यह फिल्म हरियाणा की 14 साल की लड़की अनुष्का के संघर्षों की कहानी है, जो अपने पिता का सपना पूरा करने के लिए टेनिस खेलती है और सफलता भी हासिल करती है। यह जानकारी राजधानी दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित मल्टीप्लेक्स पीवीआर प्लाजा में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में इस फिल्म के डायरेक्टर सुहैल तातारी, लेखक अनूप वाधवा और एक्टर अक्षत माहेश्वरी ने दी, जो यहां इस फिल्म के प्रमोशन के सिलसिले में आए थे। इनके साथ ही फिल्म में अनुष्का की लीड भूमिका निभाने वाली दक्षिता पटेल भी चारू शर्मा के साथ उपस्थित थीं, जो न केवल फिल्म में टेनिस प्लेयर का रोल कर रही हैं, बल्कि रियल लाइफ में भी टेनिस खिलाड़ी हैं। यह फिल्म 29 मार्च को रिलीज होगी। फिल्म में दक्षिता पटेल, रणवीर शौरी, दिव्या दत्ता, बिक्रमजीत कंवरपाल, अक्षत माहेश्वरी जैसे कई सितारे हैं।
कार्यक्रम में उपस्थित दक्षिता ने फिल्म के लिए अपनी कास्टिंग और फिल्म संबंधी तैयारी के अनुभव के बारे में बताया, ‘मैं फिल्म में अनुष्का की भूमिका निभा रही हूं। इस रोल के लिए चुने जाने के लिए मुझे बहुत सारे ऑडिशन के लिए जाना पड़ा। मुझे कई प्रशिक्षण सत्रों से गुज़रना पड़ा। मैंने अपनी फिटनेस पर भी बहुत मेहनत की। रणवीर सर के साथ शूटिंग के दौरान मैं बहुत नर्वस थी, लेकिन उन्होंने शूटिंग के पहले दिन ही मेरी समय की पाबंदी के लिए मेरी प्रशंसा की। मुझे इस फिल्म में काम करने का अद्भुत अनुभव हासिल हुआ।
चारू शर्मा ने फिल्म के बारे में कहा, ‘देश के कई हिस्से ऐसे हैं, जहां टेनिस नहीं खेला जाता है। इसलिए, लोगों के पास एक मौका है कि जो इस फिल्म के जरिये खेल की बारीकियों को नहीं समझ सकते हैं, उन्हें समझ सकें। लेकिन, यह एक ऐसी फिल्म है जहां सिर्फ टेनिस ही नहीं है, बल्कि खेल के इतर भी बहुत कुछ है। फिल्म में एक भावनात्मक एंगल भी है, जिससे दर्शक निश्चित रूप से जुड़ेंगे एवं इसे पसंद करेंगे। दरअसल, यह फिल्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के परिप्रेक्ष्य में भी अनूठा संदेश देती है, यानी यह फिल्म फन और इमोशन का मिक्स ड्रामा है। साथ ही यह फिल्म बच्चों के संघर्ष के साथ समाज को भी आईना दिखाएगी। इसके जरिये लोग आनंद लेंगे कि हमने टेनिस खिलाड़ियों के जीवन को कैसे चित्रित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here